25 May 2009

मंत्रालय ने निर्यात ऋण के संसाधनों में सुधार करने के लिए $ 5 अरब निधि का सुझाव दिया- मई 25, 2009

हिन्दी अनुवाद:
वाणिज्य मंत्री मंडल ने यह प्रस्तावित किया है की निर्यात क्षेत्र में संसाधनों को बढ़ाने के लिए एक $ 5 अरब व्यापार कोष को प्रस्तावित जाए। यह सुविधा में नए संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन के सरकार के पहले 100 दिनों में बाहर से आने की उम्मीद है। सूत्रों के अनुसार, एक कोष रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया English द्वारा पैदा की जा सकती है और निर्यात ऋण के प्रवाह में उपयुक्त वृद्धि को सुनिश्चित किया जा सकता है। "यह एक प्रस्ताव के स्तर पर है।

सूत्रों ने कहा की विचार एक निधि है कि वाणिज्यिक बैंकों में अपने व्यापार को बढ़ाने के लिए वित्त की गतिविधियों क़ुतुबनुमे बनाए जा सकते है"।

English Translation:

The Commerce Ministry has proposed a $5-billion trade fund in order to enhance resources for the export sector. This facility is expected to come out in the first 100 days of the new UPA Government. According to sources, a fund may be created by the Reserve Bank of India for ensuring increased and opportune flow of export credit. "It is at a proposal stage.

The idea is to create a fund that commercial banks could dip into for augmenting their trade finance activities," sources said.

No comments:

Post a comment