3 February 2011

FDI in India sinks for first time since March '03 : भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश मार्च '03 के बाद पहली बार मंद हुआ : 3rd February

हिन्दी अनुवाद:

शक्ति समता शर्तों (पीपीपी) की खरीद में दुनिया में चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होने के नाते भारत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के लिए पसंदीदा गंतव्य है, लेकिन देश के विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) मार्च 2003 को समाप्त वर्ष के बाद पहली बूंद के लिए नेतृत्व किया है, निरोधक एक बोली चीन की बढ़ती अर्थव्यवस्था मैच के लिए, के रूप में भी विदेशी धन एक रिकार्ड गति से भारतीय शेयर और बांड में डाल दिया। डेटा औद्योगिक नीति और संवर्धन विभाग द्वारा जारी (डीआईपीपी) से पता चलता है कि कुल प्रत्यक्ष निवेश 19 अरब डॉलर के लिए 24% गिर ही एक साल पहले की अवधि की तुलना में अप्रैल और नवंबर के बीच। हालांकि देश ने शेयरों और बांड में पैसे का एक बहुत आकर्षित किया है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक, इक्विटी और बांड में निवेश की इसी अवधि के दौरान 48% से 32.8 अरब डॉलर पर छलांग लगाईं। हालांकि, भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की प्रवृत्ति सबसे अन्य उभरते देशों के विपरीत है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा दिए गए अनुमानों के मुताबिक, ज्यादातर एशियाई देशों के कैलेंडर वर्ष 2010 में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में वृद्धि की सूचना दी। इंडोनेशिया में निवेश मे 163%, सिंगापुर में 123%, हांगकांग में 29% और चीन में 6% वृद्धि हुई। इस भाग के लिए कम्युनिस्ट भारत की तुलना में काफी अधिक से अधिक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को आकर्षित करने के देश के साथ नहीं है।

English Translation:

Being the fourth-largest economy in the world in purchasing power parity (PPP) terms, India is a preferred destination for FDI, but the country’s foreign direct investment (FDI) is headed for the first drop since the year ending March 2003, hindering a bid to match China’s surging economy, even as overseas money poured into Indian stock and bonds at a record pace. Data released by the department of industrial policy and promotion (DIPP) shows that total direct investment fell 24% to $19 billion between April and November compared with the same period a year earlier. However the country has attracted a lot of money into equities and bonds. According to the latest data from the Reserve Bank of India (RBI), inflows into equities and bonds jumped 48% to $32.8 billion during the same period. However, the FDI trend in India is in contrast to most other emerging countries. According to estimates given by the United Nations, most Asian nations reported a rise in FDI in calendar year 2010. Investment surged 163% in Indonesia, 123% in Singapore, 29% in Hong Kong and 6% in China. Part of this has to do with the communist country attracting much greater FDI than India.

No comments:

Post a comment