29 August 2011

India, Bangladesh To Enhance Trade Through Land Route : भारत, बांग्लादेश की जमीन मार्ग के माध्यम से व्यापार बढ़ाने की तैयारी : 29-08-2011

हिंदी अनुवाद:

भूमि मार्गों पर व्यापार बढ़ाने के लिए, भारत और बांग्लादेश शून्य सीमा बिंदु पर आराम से ट्रक से सामान उतारने की वर्तमान प्रक्रिया को लेकर पहला बड़ा कदम उठाया है| दोनों तरफ से ट्रकों को अब एक दूसरे प्रदेशों के अंदर 200 मीटर तक जाने की अनुमति होगी| व्यापार को सुदृढ़ करने के लिए पेत्रोपोले - बेनापोले सीमा में बंगाल के उत्तरी 24 परगना जिले में , केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम ने बिना रूकावट यातायात प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिए राजकीय कला गोदामों और भारी वाहनों के लिए आधुनिक पार्किंग की सुविधा के साथ एक नई सड़क के लिए नींव का पत्थर रखा है पेत्रोपोले सीमा एशिया में सबसे बड़ा भूमि सीमा शुल्क स्टेशन है|

परियोजना की कुल लागत 125 करोड़ रुपये आसपास और राइट्स सीधे-तोर पर सलाहकार है| यह नया खंड वर्तमान भीड़भाड़ में एक बाईपास सड़क होगी, बेनापोले को NH35 से जोड़ने, बोनगांव से होते हुए, भारत - बांग्लादेश सीमा पर अंतिम शहर कोलकाता से 97 किमी दूर होगा|

English Translation:

To enhance trade over the land routes, India and Bangladesh have taken the first major step by relaxing the present practice of unloading trucks at the zero border point. Trucks from both sides would now be allowed to enter 200 metres inside each other’s territories. To reinforce trade at the Petropole-Benapole border in Bengal’s North 24 Parganas district, Union Home Minister P Chidambaram laid the foundation stone for a new road there to ensure flawless traffic flow on the route, with state-of-the-art warehouses and modern parking facilities for heavy vehicles. The Petropole border is the largest land customs station in Asia.

The total cost of the project is around Rs 125 crore and State-run RITES is the advisor. This new stretch would be a bypass road on the present congested one, connecting Benapole to NH35, bypassing Bongaon, the last town in the India-Bangladesh border that is 97 km from Kolkata.

No comments:

Post a comment