26 September 2011

Procedures Holdup Acquisition Of Overseas Assets: Coal Secretary : प्रक्रियाएं विदेशी संपत्ति की लूट पाट अधिग्रहण: कोल सचिव : 26-09-11

हिन्दी अनुवाद :

भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों की लगातार विफलता के लिए विदेशी परिसंपत्तियों के अधिग्रहण के मुद्दे पर, नए कोयला सचिव आलोक पेट्री, प्रक्रियागत अड़चन को हटाने के लिए कोल ब्लॉक के विदेशी खरीद में वकालत की है।

कोयला सचिव आलोक पेट्री ने कहा कि हम जैसी कंपनियों कोल इंडिया (सीआईएल) चाहते हैं या संपत्ति को विदेशों में अधिग्रहण सेल, कि वे भारी धनराशि का उपयोग कर। लेकिन वे कई प्रक्रियात्मक बाधाओं की जरूरत है और कई एक को एक वार्ता के लिए ऐसी बात करनी है। समय वे एक निष्कर्ष पर आते हैं, किसी और अधिग्रहण के साथ आगे जाना होगा। दूसरी ओर, निजी क्षेत्र को इस प्रक्रिया पर चलने का लाभ है। इसलिए, यह सरकार पर है करने के लिए कोशिश करते हैं और देखना है कि इस जोखिम कारक कम है।

English Translation :

On the issue of frequent failure of the Indian Public Sector Companies to acquire overseas assets, the new Coal Secretary Alok Petri, has advocated for the removal of procedural bottleneck in buying coal block overseas.

The coal secretary Alok Petri said ‘we want companies like Coal India (CIL) or SAIL to acquire assets abroad, using the huge funds that they have. But they have several procedural hurdles and needs many one-to-one negotiations to do such a thing. By the time they come to a conclusion, somebody else will go ahead with the acquisition. On the other hand, the private sector has the advantage of over-running this process. Hence, it is upon the government to try and see that this risk factor is reduced.’

No comments:

Post a comment