13 October 2011

RBI Likely To Continue With Tight Money Policy : आरबीआई का मजबूत पैसे नीति के साथ जारी रहने की संभावना : 13-10-11

RBI Likely To Continue With Tight Money Policyहिंदी अनुवाद :

प्राथमिक वस्तुओं के समूह के सूचकांक मे 0.5% से 203.4 (अनंतिम) पिछले सप्ताह के लिए 1 अक्टूबर 2011 को समाप्त सप्ताह के दौरान 204.4 (अनंतिम) से वृद्धि हुई। मुद्रास्फीति की वार्षिक दर, बिंदु पर बिंदु की गणना के आधार पर, समाप्त सप्ताह 01/10/2011 (02/10/2010) पर 10.60% (अनंतिम) पर खड़ा था जोकि पिछले सप्ताह (24/09/2011 को समाप्त) की तुलना मे 10.84 प्रतिशत (अनंतिम) वृद्धि हुई है। 'खाद्य वस्तु समूह के सूचकांक में 0.9% द्वारा पिछले सप्ताह 197.7 (अनंतिम) से 199.5 (अनंतिम) के लिए फल और सब्जियों (4%), मूंग, चावल और रागी (2 प्रतिशत प्रत्येक) और चना, चाय और मसालों एवं मसाले (1% प्रत्येक) से वृद्धि हुई है। हालांकि, पॉल्ट्री चिकन (9%), बाजरा (4%), मक्का (3%) और ज्वार और मछली अंतर्देशीय (2 प्रतिशत प्रत्येक) की कीमतों में गिरावट आई है। मार्च 2010 से आरबीआई मुद्रास्फीति को रोकने के लिए प्रमुख ब्याज दर मे वृद्धि कर रही है।

English Translation :

The index for primary articles group rose by 0.5 % to 203.4 (Provisional) during week ended 1 October 2011 from 202.4 (Provisional) for the previous week. The annual rate of inflation, calculated on point to point basis, stood at 1060 % (Provisional) for the week ended 01/10/2011 (over 02/10/2010) as compared to 10.84 % (Provisional) for the previous week (ended 24/09/2011). The index for 'Food Articles' group rose by 0.9 % to 199.5 (Provisional) from 197.7 (Provisional) for the previous week due to higher prices of fruits & vegetables (4%), moong, rice and ragi (2% each) and gram, tea and condiments & spices (1% each). However, the prices of poultry chicken (9%), bajra (4%), maize (3%) and jowar and fish-inland (2% each) declined. From March 2010, RBI has been hiking key interest rate to curb the inflation.

No comments:

Post a comment