11 November 2011

No Connection Between High Interest Rate And Low IIP: Ahluwalia : उच्च ब्याज दर और कम आईआईपी के बीच कोई संबंध नहीं: अहलूवालिया : 11-11-11

No Connection Between High Interest Rate And Low IIP: Ahluwaliaहिंदी अनुवाद :

भारतीय फर्मों के बीच में औद्योगिक विकास गिरावट के लिए उच्च ब्याज दर व्यवस्था को दोषी ठहराने वालो के लिए योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने कहा, इन दोनों के बीच कोई संबंध नहीं है. आरबीआई तंग मौद्रिक औद्योगिक उत्पादन में बाधा नीति पर टिप्पणी करते हुए अहलूवालिया ने कहा कि, 'मैं दर में वृद्धि और औद्योगिक उत्पादन में गिरावट के बीच कोई संबंध नहीं बनाना चाहूँगा. दर आज मोटे तौर पर वह क्या था जब अर्थव्यवस्था 9% से बढ़ रही थी.

हालांकि, धीमे औद्योगिक उत्पादन के लिए, उन्होंने कहा, और भी अन्य वैश्विक व् घरेलू कारक है जो कारखाने के उत्पादन को प्रभावित कर रहे हैं. 'मुझे नहीं लगता है कि धीमें (औद्योगिक उत्पादन विकास के लिए ) केवल अल्पकालिक ब्याज दरों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए.

English Translation :


In the midst of Indian firms blaming the high interest rate regime for the declining industrial growth, Planning Commission Deputy Chairman Montek Singh Ahluwalia said, there is no connection between the two. Commenting on the RBI's tight monetary policy hampering industrial production Ahluwalia said, 'I would not draw any connection between the rate hike and decline in industrial production. The rate today is roughly what it was when the economy was growing at 9%.'

However, for the poor industrial production, he said, there are other global and domestic factors that are affecting factory production. 'I do not think the slowing down (of industrial production growth) should be attributed to only the short-term interest rates.’

No comments:

Post a comment