3 June 2009

एयर इंडिया के आईपीओ ने आने वाले समय के बारे में विचार किया- जून 03, 2009

हिन्दी अनुवाद:
नगर वायुयान चालन मंत्री प्रफुल पटेल ने कहा की आईपीओ के लिए राष्ट्रीय वाहक के योग्य होने के लिए परिचित रूप से आगामी समय को जोड़ने के बाद इस पूंजी बाजार में सुधार किया जाए। उन्होंने यह भी कहा की" एयरलाइन अपने सार्वजनिक क्षेत्र के चरित्र को खोना नहीं चाहते परन्तु यह निजीकरण नहीं होगा"। मंत्री ने कहा की आईपीओ के लिए एयर इंडिया की "अधिक आवश्यक चलनिधि सत" और सभी "जवाबदेही" को पेश किया जाए।

एयरलाइन एक प्रस्ताव को स्वयं ही पुनर्जीवित करने के लिए सरकार पैसे की मांग पर काम कर रहे है। मुल्ये 1,231 करोड़ रूपये के लिए सामान्य सत और मुल्ये 2,750 करोड़ के लिए सुलभ ऋण के लिए सरकार से पूछने की उम्मीद है।

English Translation:

Civil aviation minister Praful Patel has said that the IPO of the national carrier could be considered in the near future adding after the capital market improves. He also said "But the airline will not lose its public sector character and it will not be privatised". The IPO of Air India will bring in "much-needed liquidity infusion" and also "accountability," the minister said.

The airline is working on a proposal seeking government money to revitalize itself. It is expected to ask for Rs. 1,231 crore as equity infusion and Rs. 2,750 crore as soft loan from the government.

No comments:

Post a comment