16 September 2009

महिंद्रा सत्यम ने विश्व बैंक के साथ बातचीत कर प्रतिबंध को रद्द किया- सितम्बर 16, 2009

Hindi News About Mahindra Satyam Research हिन्दी अनुवाद:
महिंद्रा सत्यम ने कहा कि 8 साल के अंत की पुरानी मांग में कथित तौर पर विश्व बैंक के कर्मचारियों को अनुचित लाभ उपलब्ध कराने के लिए, और अपनी नई पहचान, महिंद्रा सत्यम को ग्रहण के लिए सत्यम कंप्यूटर ने विश्व बैंक द्वारा प्रतिबंध लगाया। इसके अलावा, यह भी ग्राहकों को जो अपने संस्थापक है बी रामालिंगा राजू ने इस साल के आरंभ में बहु करोड़ रुपए के लेखांकन से धोखाधड़ी का पता चला इसके बाद सत्यम वाम दलों के साथ चर्चा आयोजित कर रहा है। इसके अतिरिक्त, यह कहा जाता है कि कंपनी जहां इन सौदों में से कुछ व्यापार में वापस और मूल्य के सौदे का पीछा करते हुए 50 करोड़ डॉलर से अधिक है वह अगले तिमाही तक पूरा होने की उम्मीद है। बहरहाल, मई के बाद टेक महिंद्रा ने अधिग्रहण वे सीमांत ग्राहक ने उदासीनता दिखाई है, लेकिन इस साल के बाद कंपनी में 32 नए ग्राहकों को जोड़ा जाएगा।

English Translation:

Mahindra Satyam stated that it is seeking an end to the 8 year old ban imposed by the World Bank on Satyam Computer for allegedly providing improper benefits to the World Bank staff, which has since then assumed its new identity, Mahindra Satyam. Moreover, it is also holding talks with clients who left Satyam after its founder B Ramalinga Raju revealed multi-crore rupee accounting fraud early this year. Additionally, it is said that the company is now back in business and chasing deals worth over $ 50 million where some of these deals are expected to be completed by next quarter. However, post the acquisition by Tech Mahindra they have seen marginal client attrition but the company has added 32 new clients after May this year.

No comments:

Post a comment