5 October 2010

Companies May Lose Captive Coal Blocks For Delays : कंपनिया देरी के लिए कैप्टिव कोयला ब्लॉक खो सकती है : 5th October

हिन्दी अनुवाद:
कोयला मंत्रालय ने सभी कोयला खदानों की बंदी पकड़े कंपनियों से कहा है कि वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के लिए इन के लिए स्थिति रिपोर्ट प्रस्तुत करने, और यदि पर्याप्त विकास, के रूप में ब्लॉक देने अनुबंध में सहमति से नहीं ले जाया गया तो, सरकार ऐसे ब्लॉक के आवंटन रद्द कर सकती है। सरकार ने, गैर गंभीर खिलाड़ी जो आवंटित ब्लॉक पर बेकार बैठे है अपनी सतर्कता से बाहर किये जायेंगे। यह पहले एक सामान्य सब बंदी ब्लॉक धारकों के लिए भेजा है कि अगर वे करने के लिए ब्लॉक झंझरी समझौते की शर्तों के अनुसार ब्लॉक विकसित करने में विफल है, उनके आवंटन रद्द कर दिया जाएगा नोटिस में कहा गया था।

English Translation:
The Ministry of Coal has asked all the companies holding captive mines of coal to submit status report for these for the second quarter of the fiscal, and if sufficient development, as agreed upon in the contract awarding the blocks, has not taken place, the government might cancel the allocations of such blocks. The government has off-late picked up its vigilance to weed out the non-serious players which have been sitting idle on the allotted blocks. It had earlier stated in a general notice sent to all captive block holders that if they fail to develop the blocks as per the terms of the agreement grating the block, their allocation would be cancelled.

No comments:

Post a comment