15 October 2010

ONGC Is Planning To Tie Up With The Energy Firm : ओएनजीसी ऊर्जा फर्म के साथ मिलने की योजना बना रहा है : 15th October

हिन्दी अनुवाद:

सरकारी तेल और प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) एक ऊर्जा फर्म है एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार और अधिकार रूस की सबसे बड़ी खोज की त्रेब्स और तितोव क्षेत्रों के विकास के लिए हो जाता और इनके साथ मिलकर योजना बना रहा है। त्रेब्स और तितोव क्षेत्रों के बारे में 200 मिलियन टन के भंडार वसूली, ओएनजीसी के कच्चे तेल की कुल तेल भंडार का 35% के बराबर है। नीलामी 2 दिसंबर 2010 को बकाया होगी और केवल दो रूसी ऊर्जा कंपनियों, ओएओ बश्नेफ्त और ओएओ सुर्गुत्नेफ्तेगाज़ पर देश के सामरिक तेल भंडार के लिए बोली लगाने योग्य है। बश्नेफ्त बेहतर स्थिति में है मैदान मिल के रूप में यह अतिरिक्त रिफाइनिंग क्षमता, परियोजना जीतने के लिए एक प्रमुख शर्त है। ओएनजीसी ने 30 जून 2010, को समाप्त तिमाही के लिए 4,847.92 करोड़ रूपये का कुल मुनाफा दर्ज किया जोकि 30 जून 2009 समाप्त तिमाही के विरूद्ध 3,661.14 करोड़ रुपये था और 24.48% नीचे था।

English Translation:

State-run Oil and Natural Gas Corporation (ONGC) is planning to tie up with the energy firm that gets the rights to develop Russia’s largest discovered fields Trebs and Titov, according to a media report. Trebs and Titov fields have about 200 million tonne recoverable reserves, equivalent to 35% of ONGC’s total crude oil reserves. The auction is due on December 2, 2010 and only two Russian energy firms, OAO Bashneft and OAO Surgutneftegaz are qualified to bid for the country’s strategic oil reserves. OAO Bashneft is in better position to get the field as it has spare refining capacity, a major condition for winning the project. ONGC had posted a net profit of Rs 3,661.14 crore for the quarter ended June 30, 2010 against Rs 4,847.92 crore for the quarter ended June 30, 2009, down 24.48%.

No comments:

Post a comment