25 January 2011

CRISIL Equities Assigns IPO Grade : क्रिसिल इक्विटीज ने आईपीओ ग्रेड असाइन किया है : 25th January

हिन्दी अनुवाद:

क्रेडिट रेटिंग एजेंसी क्रिसिल के इक्विटीज सुदर गारमेंट्स के प्रस्तावित आईपीओ के लिए 5 '1 / की 'एक क्रिसिल आईपीओ ग्रेड सौंपा गया है। इस श्रेणी इंगित करता है कि आईपीओ की बुनियादी बातों में गरीब अन्य भारत में सूचीबद्ध इक्विटी प्रतिभूतियों के रिश्तेदार हैं। बहरहाल, इस ग्रेड एक राय है कि क्या निर्गम मूल्य मुद्दा बुनियादी बातों के संबंध में उपयुक्त है। नियत ग्रेड कंपनी के कमजोर कंपनी प्रशासन प्रथाओं से विवश है। एक स्वतंत्र निदेशकों की बारीकी से व्यावसायिक गतिविधियों में शामिल है और करने के लिए है प्रमोटर व्यापार और वित्तीय निर्णयों को प्रभावित जाना जाता है। सुदर गारमेंट्स की आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) को अगले कुछ महीनों में बाजार में उतरने की संभावना है। कंपनी की इस आईपीओ के जरिए करीब 65-70 करोड़ रुपए जुटाने की योजना है। कंपनी को 100% बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के माध्यम से जनता के लिए प्रत्येक 10 रुपए के 90.88 लाख इक्विटी शेयरों की पेशकश का प्रस्ताव है। मुद्दा आय 2629 करोड़ रुपये की लागत से मौजूदा परिधान विनिर्माण इकाई के विस्तार के लिए उपयोग किया जाएगा 25 करोड़ रुपये का पूंजी आवश्यकता काम और रु 5.9 करोड़ रुपये की कीमत पर खुदरा दुकानों और ब्रांड निर्माण की स्थापना की।

English Translation:

Credit rating agency, CRISIL Equities has assigned a CRISIL IPO grade of ‘1/5’ to the proposed IPO of Sudar Garments. This grade indicates that the fundamentals of the IPO are poor relative to other listed equity securities in India. However, this grade is not an opinion on whether the issue price is appropriate in relation to the issue fundamentals. The assigned grade is constrained by the company’s weak corporate governance practices. One of the independent directors is closely involved in business activities and is known to influence the promoter’s business and financial decisions. Initial Public Offer (IPO) of Sudar Garments is likely to hit the market in next few months. The company plans to raise Rs 65-70 crore through this IPO. The company proposes to offer 90.88 lakh equity shares of Rs 10 each to the public through 100% book building process. Issue proceeds will be used for expansion of the existing apparel manufacturing unit at a cost of Rs 26.29 crore, working capital requirement of Rs 25 crore and setting up retail outlets and brand building at cost of Rs 5.9 crore.

No comments:

Post a comment