17 January 2011

Infosys Technologies Plans To Get Hold Of Smaller US Outsourcers : इन्फोसिस टेक्नोलॉजीज की छोटे अमेरिका आउटसोर्सरों पर काबू पाने की योजना:17th January

हिन्दी अनुवाद:

भारत की नंबर 2 सॉफ्टवेयर निर्यातक इन्फोसिस छोटे सरकार के अधिग्रहण के लिए आईटी अमेरिका में ठेकेदारों के रूप में कंपनी को 70 अरब डॉलर की सरकार देश में बाजार में कदम आउटसोर्सिंग की कोशिश करती है के अधिग्रहण की योजना बना रही है। इन्फोसिस बाजार तेजी से बाहर निकलने के लिए बाएआउत मदद के सकता है जबकि आवश्यक योग्यता की बोली के लिए सरकार के सामान्य मार्ग के माध्यम से 1-2 साल लग सकते हैं। छोटे अमेरिका आधारित छोटी आउटसोर्सिंग कंपनिया, बड़ा विभिन्न सरकारी विभागों द्वारा क्रमादेशित खरीद के लिए सामने के अंत के रूप में कार्य करेंगी। इन कंपनियों के पहले से आवश्यक अनुमोदन किया है और बोली, और यहाँ तक कि गुरु सप्लायर बन गया है, बड़े आउटसोर्सिंग अनुबंध के लिए कहीं भी $ 500 मिलियन से एक अरब डॉलर करने के लिए पात्र हैं। अधिग्रहण $ 15 और $ 25 मिलियन के बीच कही भी हो सकता है।

English Translation:

India’s No. 2 software exporter Infosys is plannings to acquire smaller government IT contractors in the US as the company tries to move into the $70-billion government outsourcing market in the country. A buyout will help Infosys tap the market faster, as getting necessary qualifications to bid for government contracts can take 1-2 years through the normal route. Smaller outsourcing firms based in the US, act as the front-end for larger procurement programmed by different government departments. These firms already have necessary approvals and are eligible to bid, and even become master supplier, for large outsourcing contracts anywhere from $500 million to a billion dollars. The acquisition would be anywhere between $15 and $25 million.

No comments:

Post a comment