20 September 2011

FIPB Clears 12 FDI Proposals Worth Rs 242.88 Crore : एफआईपीबी ने 242.88 करोड़ रुपये मूल्य के 12 एफडीआई प्रस्तावों पारित किए : 20-09-11

हिन्दी अनुवाद :

सरकार ने देश में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) के कुल 242.88 करोड़ रुपए भारतीय रोतोर्क्रेफ्त से दोनों सैन्य और नागरिक हेलीकाप्टरों की विधानसभा के लिए बाहर ले जाने सहित लाभ के लिए 12 प्रस्तावों को मंजूरी दे दी है। विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी), तथापि, 15 एफडीआई प्रस्तावों पर निर्णय में देरी, वोडाफोन - एस्सार और बांग्लादेश आधारित रहिमफ्रूज़ बैटरियों के उन सहित, और 7 अनुप्रयोगों को खारिज कर दिया।

एफआईपीबी की सिफारिशों के आधार पर, सरकार ने प्रत्यक्ष विदेशी निवेश 242.88 करोड़ रुपये की राशि के लिए 12 प्रस्तावों को मंजूरी दे दी है। मुंबई स्थित भारतीय रोतोर्क्रेफ्त विदेशी इक्विटी प्रतिष्ठापित हेलीकाप्टरों की सैन्य और नागरिक दोनों संस्करणों के अंतिम विधानसभा के व्यापार के लिए बाहर ले जाने की अनुमति मांगी थी। प्रस्ताव यदि निष्पादित किया, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में 17.42 करोड़ रुपये को आकर्षित करेंगे।

English Translation :

The government has cleared 12 proposals for Foreign Direct Investment (FDI) in the country worth a total Rs 242.88 crore, including one from Indian Rotorcraft to carry out the assembly of both military and civil helicopters. The Foreign Investment Promotion Board (FIPB), however, delayed decisions on 15 FDI proposals, including those of Vodafone-Essar and Bangladesh-based Rahimafrooz Batteries, and rejected 7 applications.

Based on the recommendations of FIPB, the government has approved 12 proposals for FDI amounting to Rs 242.88 crore. Mumbai-based Indian Rotorcraft had sought permission to induct foreign equity to carry out the business of final assembly of both military and civil versions of helicopters. The proposal, if executed, would attract Rs 17.42 crore in FDI.

No comments:

Post a comment