28 September 2011

Kingfisher Airlines Aims To Decrease Its Interest Costs : किंगफिशर एयरलाइंस का उद्देश्य अपनी ब्याज लागत में कमी करना : 28-09-11

हिन्दी अनुवाद :

निजी क्षेत्र के वाहक, किंगफिशर एयरलाइंस बैंकों के एक संघ के लिए अपनी ब्याज लागत और कमी के साथ काम कर रहा है, जबकि कंपनी को बेचने के लिए और वापस अपने विमान के कुछ किराया को ऋण को कम करने की योजना बना रहा है

वर्तमान में बैंकों के संघ बढ़ाया कार्यशील पूंजी मजबूत वृद्धि और उच्च ईंधन लागत को पूरा करने का अनुरोध मूल्यांकन है। व्यवहार्य रहने से कंपनी को पूँजी लगाने की जरूरत है।

इससे पहले अगस्त में, कंपनी ने अपने बोर्ड के शेयरों का राइट्स इश्यू के जरिए 2,000 करोड़ रुपये जुटाने का अनुमोदन प्राप्त है। बोर्ड भी वैकल्पिक परिवर्तनीय डिबेंचर है जारी करने के लिए मामले में संशोधन कि 3 जनवरी, 2011 को जारी किए गए थे

English Translate :

Private sector carrier, Kingfisher Airlines is working with a consortium of banks to decrease its interest costs further, while the company is planning to sell and lease back some of its aircraft to reduce loans.

The consortium of banks is currently appraising the enhanced working capital request to cater to the strong growth and higher fuel costs. The company is needed capital infusion to remain viable.

Earlier in August, the company received its board’s approval to raise up to Rs 2,000 crore through a rights issue of shares. The board also amended the terms for the issue of optionally convertible debentures that were issued on January 3, 2011.

No comments:

Post a comment