1 October 2011

Copper Concludes A Hat-Trick Of Dismal Performances On Thursday : कॉपर गुरुवार को निराशाजनक प्रदर्शन की हैटट्रिक निष्कर्ष निकाला है : 01-10-11

हिन्दी अनुवाद :

कॉपर की कीमतों में गुरुवार को लगातार तीसरी सत्र के लिए उनके खोने लकीर बढ़ाया, 2008 के वित्तीय संकट के बाद से सबसे कमजोर तिमाही प्रदर्शन दर्ज के रूप में निवेशकों बिगड़ती वैश्विक विकास संभावनाओं के बीच औद्योगिक धातु की मांग दृष्टिकोण के बारे में चिंता करने में जारी रखा। लाल धातु की कीमतें भी द्वारा कम आंका मिला अमेरिकी नोट में सराहना की है जो अन्य मुद्राओं के धारकों में वस्तु महंगा हो गया है।

दिसंबर डिलीवरी में कॉपर वायदा बंद कर मुंडा 9.40 सेंट में व्यापार के बाद 3.1520 डॉलर प्रति पौंड पर $ 3.3180 के रूप में उच्च के रूप में बसा और के रूप में न्यूयॉर्क मर्केंटाइल एक्सचेंज के कोमेक्स धातुओं विभाजन पर 3.1060 डॉलर के रूप में कमतीन महीने में लंदन मेटल एक्सचेंज पर डिलीवरी के लिए कॉपर $ 211.50 से बंद 7,018.50 डॉलर प्रति टन पर समाप्ति हुई।

English Translation :

Copper prices extended their losing streak for a third successive session on Thursday, registering the weakest quarterly performance since the 2008 financial crisis, as investors continued to worry about the demand outlook of the industrial metal amid deteriorating global growth prospects. The red metal prices also got undermined by the appreciation in American greenback which made the commodity costlier for holders of other currencies.

Copper futures for December delivery shaved off 9.40 cents to settle at $3.1520 per lb after trading as high as $3.3180 and as low as $3.1060 on the Comex metals division of the New York Mercantile Exchange. Copper for three-month delivery on the London Metal Exchange slumped by $211.50 to end at $7,018.50 a tonne.

No comments:

Post a comment