3 October 2011

Govt Likely To Permit NPPA To Verify Landed Cost Of Drugs :सरकार ने एनपीपीए दवाओं के आयातित माल की लागत को सत्यापित में परमिट की संभावना है : 03-10-11

हिन्दी अनुवाद :

दवा कीमत पर्यवेक्षी शरीर - नेशनल फार्मास्युटिकल प्राइसिंग अथॉरिटी (एनपीपीए) ने दवाओं है कि अपने नियंत्रण के अधीन उतरा लागत सत्यापित करने शक्ति प्राप्त करने की संभावना है। दवा मूल्य निर्धारण कानून परिवर्तन करने एनपीपीए की अनुमति दवाओं की उतरा लागत की जानकारी के लिए सरकार विचार कर रही है। लदान मूल्य जब वे भारतीय तटों तक पहुँचने और नियामक इस के आधार पर इन दवाओं की कीमत को हल करता है दवाओं की लागत के करने संदर्भित करता है।

इसे लेने के लिए अन्य मंत्रालयों के साथ इस मुद्दे का अनुरोध एनपीपीए ने दवा के विभाग (दीओपी) से संपर्क किया था। वर्तमान कानून के तहत, एनपीपीए पेटेंट दवाओं और सबसे आयातित कैंसर जैसी बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया दवाओं की कीमतें तय नहीं कर सकते है।

English Translation :

The drug price supervisory body - National Pharmaceutical Pricing Authority (NPPA) is likely to get powers to verify landed cost of drugs that are under its control. The government is mulling alterations to the drug pricing law to permit the NPPA to look for details of landed cost of medicines. Landed price refers to the cost of medicines when they reach Indian shores and the regulator fixes the price of these drugs on the basis of this.

The NPPA had approached the Department of Pharmaceuticals (DoP) requesting it to take up the issue with other ministries. Under current laws, the NPPA cannot fix prices of patented drugs and most imported medicines used for treatment of illnesses such as cancer.

No comments:

Post a comment