14 January 2012

Punjab National Bank To Expand Overseas Presence : पंजाब नेशनल बैंक विदेशों में उपस्थिति का विस्तार करेगा : 14-01-12

हिंदी अनुवाद:

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी), सार्वजनिक क्षेत्र के ऋणदाता अपने विदेशी उपस्थिति का विस्तार और संभव प्रविष्टि के लिए आने वाले दिनों में देशों पर विचार करने का लक्ष्य बना रहा है। बैंक ने विदेशों में प्रवेश के लिए मालदीव, सिंगापुर, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश निर्धारित किए है।

बैंक ने मालदीव में बैंक के प्रवेश को मंजूरी दे दी है और दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील जैसे देशों के लिए भी सर्वेक्षण किया जा चूका हैबैंक सिडनी में अपने प्रतिनिधि कार्यालय को एक शाखा या एक सहायक में परिवर्तित करने में रुचि दिखायेगापिछले साल सितंबर में, पीएनबी सिडनी में एक प्रतिनिधि कार्यालय खोला था, जो बैंक के लिए विदेशों में दसवां गंतव्य था

भारतीय रिजर्व बैंक ने कनाडा में एक सहायक कंपनी खोलने के लिए पीएनबी को स्वीकृति दे दी हैयह अभी भी कनाडा नियामक अधिकारियों की उस देश में एक सहायक कंपनी खोलने के लिए मंजूरी का इंतजार कर रहे हैं। बैंक की दुबई, हांगकांग और काबुल में कई शाखाओं के अलावा, लंदन और भूटान में सहायक है। इसका नेपाल में भी एक संयुक्त उद्यम है।

English Translation:

Punjab National Bank (PNB), public sector lender is aiming to expand its overseas presence and is considering countries for possible entry in the coming days. The bank has identified Maldives, Singapore, Brazil, South Africa and Bangladesh for overseas foray.

The bank has cleared the bank's entry into Maldives and surveys have also been done for countries like South Africa and Brazil. The bank will be interested in converting its representative office in Sydney into a branch or a subsidiary. In last September, PNB had opened a representative office in Sydney, which was the tenth overseas destination for the bank.

Reserve Bank of India has given approval to PNB for opening a subsidiary in Canada. It is still awaiting the nod of Canadian regulatory authorities for opening a subsidiary in that country. The bank has subsidiaries in London and Bhutan, besides many branches in Dubai, Hong Kong and Kabul. It also has a joint venture in Nepal.

No comments:

Post a comment