5 April 2012

SAIL Increases Price Of Long Products By 2.5% : सेल ने 2.5% से लंबे उत्पादों की कीमत मे वृद्धि की : 05-04-12

SAIL Increases Price Of Long Products By 2.5%हिंदी अनुवाद :

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया (सेल), इस्पात मंत्रालय के अधीन एक महारत्न पीएसयू में 2.5% द्वारा अपने लंबे उत्पादों में से कुछ की कीमत में वृद्धि की है जोकि 1 अप्रैल, 2012 से प्रभावी है। कंपनी ने टीएमटी बार (8mm) की कीमत मे 500 रूपये प्रति टन से 41,000 रुपये प्रति टन से वृद्धि की। इसने एंगल (65X 65X 6mm) और चैनल (200X75 मिमी) के मूल्य मे भी 1,000 रुपये प्रति टन से 39,500 रुपये प्रति टन से वृद्धि की। घरेलू इस्पात निर्माताओं द्वारा दोनों लंबी और फ्लैट उत्पादों के लिए कीमतों में 1,500 रुपये से प्रति टन तक करने के लिए 2 अप्रैल से प्रभावी के साथ माल ढुलाई की दरों में वृद्धि के कारण उत्पादन लागत ऑफसेट किया। हाल ही में, कंपनी ने भारत सरकार को अंतरिम लाभांश के रूप में 495.65 करोड़ रुपये का भुगतान किया। अंतरिम लाभांश चेक प्रदत्त वर्ष 2011-12 के लिए इक्विटी पूंजी का 12% पर भुगतान किया गया था। इस्पात मंत्री, श्री बेनी प्रसाद वर्मा ने भारत के प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह को 03 अप्रैल, 2012 के लिए अंतरिम लाभांश चेक भेंट किया।

English Translation :

Steel Authority of India (SAIL), a Maharatna PSU under the Ministry of Steel has increased the price of some of its long products by 2.5% with effect from April 1, 2012. The company has hiked the price of TMT Bar (8mm) by Rs 500 a tonne to Rs 41,000 a tonne. It also hiked the price of angle (65X 65 X 6mm) and channel (200X75 mm) by Rs 1,000 a tonne to Rs 39,500 a tonne. Domestic steel makers raised the prices for both long and flat products by up to Rs 1,500 a tonne, to partially offset the inflated production cost due to hike in freight rates with effect from April 2. Recently, the company paid Rs 495.65 crore as an interim dividend to the Government of India. The interim dividend cheque was paid at 12% of paid up equity capital, for the year 2011-12. The Union Minister for Steel, Shri Beni Prasad Verma presented an interim dividend cheque to the Prime Minister of India, Dr. Manmohan Singh on April 03, 2012.

No comments:

Post a comment