27 May 2009

प्रणव का कहना है की जुलाई के प्रारम्भ में बजट- मई 27, 2009

हिन्दी अनुवाद:
सरकार ने जुलाई के पहले हफ्ते में केन्द्रीय बजट को पेश करने के लिए, मंगलवार को वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने कहा कि आम आदमी'' पर ध्यान नड होगा'' और वस्त्र, चमड़ा, जवाहरात और आभूषण जैसे क्षेत्रों के लिए, कुछ विशेष ध्यान जा रहा है जो कठिन वैश्विक वित्तीय मेल्टडाउन से प्रभावित किया जा रहा है। श्री मुखर्जी " के खाते पर वोट के एक दूसरे बैच के लिए पसंद नहीं करेगा बजट जुलाई के पहले सप्ताह में पेश किया जाएगा।

"बजट में 31 जुलाई, 2009, जो एक और अंतरिम बजट अनिवार्य होगा असफल होने से पहले पारित करना होगा। उन्होंने कहा कि घोषणा पत्र वृद्धि करने के लिए रुपए की राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत न्यूनतम मजदूरी को प्रस्तावित किया जाएगा। उन्होंने कहा की प्रतिदिन 100 दिनों के साथ पद में, खाद्य सुरक्षा उपलब्ध कराने के मुद्दे को सर्वोच्च प्राथमिकता मिल जायेगी।

English Translation:

The government is going to present the Union budget in the first week of July, said Finance Minister Pranab Mukherjee on Tuesday nad the focus will be on ''aam aadmi'' and some special attention to sectors like textiles, leather and gems and jewellery, which are being hit hard by the global financial meltdown.

Mr. Mukherjee said “I would not like to have a second batch of vote-on-account... the budget will be presented in the first week of July.” The budget will have to be passed before July 31, 2009 failing which another interim budget would be mandatory. He said that the manifesto had proposed to hike the minimum wages under the National Rural Employment Guarantee scheme to Rs. 100 per day. In line with this, the issue of providing food security would get top priority, he added.

No comments:

Post a comment