28 December 2009

रूस ने कोज्मिनो में प्रमुख तेल टर्मिनल खोला है- दिसम्बर 28, 2009


हिन्दी अनुवाद:

सोमवार को रूस के एक सुदूर पूर्व में कोज्मिनो बंदरगाह पर नए तेल निर्यात टर्मिनल का उद्घाटन किया।

टर्मिनल खोलने, रूसी प्रधानमंत्री व्लादिमीर पुतिन ने कहा, "यह रूस के लिए एक महत्वपूर्ण घटना है और एक महत्वपूर्ण परियोजना है, जो हमें एशिया के बढ़ते बाजार प्रशांत क्षेत्र में प्रवेश करने में सक्षम बनाता है।"

रूस को अपनी ऊर्जा के निर्यात, विविधता लाने की मांग की है, जो अब तक अधिकतर यूरोप के लिए बाध्य था।

पुतिन ने कहा कि यह 60 बिलियन रुब्ल्स (करीब 2 अरब डॉलर) की लागत से कोज्मिनो टर्मिनल का निर्माण हुआ है।

दूसरी पैर को खींचते हुए सकोवोरोदिनों से कोज्मिनो तक, एक और 2,100 किलोमीटर (1300 मील) पूर्व, अभी भी बनाया जा रहा है, और इसके पूरा होने तक तेल रेल द्वारा वहाँ भेजा जाएगा।

English Translation:

Russia on Monday inaugurated a new oil export terminal at Kozmino port in its far east.

Opening the terminal, Russian PM Vladimir Putin said, "It is an important event for Russia and a strategic project, which enables us to enter the growing markets of the Asia-Pacific region."

Russia has sought to diversify its energy exports, which until now have been mostly bound for Europe.

Putin said it cost 60 billion rubles (about $2 billion) to build the Kozmino terminal. Kozmino is the destination point of a new pipeline that will pump crude from huge oilfields in eastern Siberia.

The second leg stretching from Skovorodino to Kozmino, another 2,100 kilometers (1,300 miles) east, is still being built, and until its completion the oil will be carried there by rail.

No comments:

Post a comment