19 January 2010

Banks moving out of mutual funds : बैंक्स म्युचुअल फंड से बाहर जा रहे है : 19th January

हिन्दी अनुवाद

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बैंकों को म्युचुअल फंड में निवेश में कमी करने के लिए चेतावनी दी है। हालांकि, दिसंबर में, बैंकों ने एम.एफ. उपकरणों से 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक खींच ली जहा बैंक मे नीवेश 1 जनवरी को 1,47,279 करोड़ रुपए से 42,428 करोड़ रुपए नीचे चला गया। ए एम एफ आई के अध्यक्ष एपी कुरियन ने कहा कि वे दिसंबर माह में मोचन देखा है, जबकि यह आमतौर पर कंपनियों के रूप में होता है और बैंकों को अपनी कर पूर्व भुगतान से मिलना है। इस बीच, क्रेडिट बंद में हाल ही में लेने को भी प्रेरित बैंकों को इन निधियों मे क्रेडिट मांग को पूरा करने की बजाये विपरिनियोजन कर सकते है। बैंक ऋण के लिए मांग पर इसी अवधि मे 1 लाख करोड़ रुपए की उठाई गयी है और बन्केर्स ने अच्छा क्रेडिट स्वीकार किया है जिससे उन्हें उनके म्युचुअल फंड निवेश छँटाई मे मदद मिली

English Translation:

The Reserve Bank of India (RBI) has warned banks to decrease investments in mutual funds. However, in December, banks have pulled out more than Rs 1 lakh crore from MF instruments with the largest fall in exposure seen in the fortnight ended January 1, where banks' investment went down to Rs 42,428 crore from Rs 1,47,279 crore. AP Kurian, chairman of AMFI stated that they have seen redemption in the month of December while it generally happens as corporates and banks have to meet their tax pre-payments. Meanwhile, the recent pick in credit off-take could have also prompted banks to redeploy these funds to instead meet the credit demand. The demand for bank credit has picked by over Rs 1 lakh crore over the same period and bankers admit good credit growth has helped them prune their mutual fund investments.

No comments:

Post a comment