27 April 2010

Varmora Granito Lines Up Rs 100 Crore For Capacity Expansion : वरमोरा ग्रानीटो की 100 करोड़ रुपये निवेश करने की योजना : 27th April

हिन्दी अनुवाद:

उत्पादन क्षमता का विस्तार करने के लिए, वरमोरा ग्रानीटो प्राइवेट लिमिटेड 100 करोड़ रुपये निवेश करने की योजना बना रहा है। कंपनी 60 करोड़ रुपये का निवेश करेगा 40,000 वर्ग मीटर प्रति दिन से 85,000 वर्ग मीटर प्रति दिन अपनी उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए। श्री भवेष वरमोरा , वरमोरा ग्रानीटो के प्रबंध निदेशक ने कहा कि कंपनी ने डिजिटल मुद्रित चीनी मिट्टी की दीवार टाइल का उत्पादन शुरू किया है। उन्होंने कहा कि कंपनी भारतीय सिरेमिक उद्योग में पहली डिजिटल मुद्रण प्रौद्योगिकी को अपनाने वाली कंपनी होगी। कंपनी अपनी वार्षिक कारोबार चालू वित्तीय वर्ष के अंत तक 400 करोड़ रुपए से आधिक करने की सोच रहा है, पिछले वर्ष के 220 करोड़ रुपये की तुलना में। कंपनी ने इटली आधारित कंपनी विड्रेस और क्रेटाप्रिन्ट के साथ क्रमशः मुद्रण और डिजाइनिंग के लिए करार किया है। श्री वरमोरा ने कहा कि कंपनी की प्रौद्योगिकी उन्नयन के लिए 40 करोड़ रुपये निवेश की योजना है और 60 करोड़ रुपये मौजूदा वित्तीय वर्ष (2010-11) के अंत तक उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए।

English Translation:

In order to expand the production capacity, Varmora Granito Pvt Ltd. is planning to invest Rs. 100 crore towards the plan. The company will make an investment of around Rs. 60 crore in raising its production capacity from 40,000 sq meter per day to 85,000 sq meter. Mr. Bhavesh Varmora, MD of Varmora Granito said the company has commenced production of digitally printed ceramic wall tiles. He said the company would be the first Indian company to adopt digital printing technology in ceramic industry. The company eyes to double its yearly turnover to more than Rs. 400 crore by end of the current financial year, as compared to Rs. 220 crore last year. The company has tied-up with Italy based company - Vidres and Cretaprint, for printing and designing respectively. Mr. Varmora said the company plans to invest Rs. 40 crore for technology up-gradation and Rs. 60 crore to ramp up production capacity by the end of the current financial year (2010-11).

No comments:

Post a comment