9 July 2010

Shree Renuka Successfully Completes Equipav Deal : श्री रेणुका का क़ुइपव सौदा सफलतापूर्वक पूर्ण : 9th July

हिन्दी अनुवाद:

भारत की सबसे बड़ी चीनी साफ़ करने वाला श्री रेणुका शुगर्स सफलतापूर्वक एक ब्राजीली चीनी और इथेनॉल उत्पादन कंपनी - क़ुइपव एसए में 50.34% की हिस्सेदारी को नियंत्रित करने के अधिग्रहण को पूरा कर लिया है। इस अधिग्रहण के बाद, क़ुइपव कंपनी की सहायक कंपनी बन गई है। इस साल फरवरी में, चीनी बनाने के लिए 1,530 करोड़ रुपये के लिए क़ुइपव एसए में 50.79% हिस्सेदारी खरीदने के लिए सहमत हुए थे लेकिन यह सौदा पिछले महीने संशोधित 1,151 करोड़ रुपये के लिए 50.34% हिस्सेदारी के लिए प्रबंधित है। क़ुइपव एसए एक सबसे बड़े चीनी और ब्राजील में इथेनोल कंपनियों में से एक है। कंपनी के दो बहुत बड़े और आधुनिक / एकीकृत सह इथेनॉल उत्पादन सुविधाओं के साथ मिलों होने सालाना 10,500,000 टन की क्षमता को कुचल गन्ना संयुक्त चीनी के होते हैं। इसके अलावा, ब्राजील 203 मेगावाट इकाई भी (मेगावाट) के एक सह उत्पादन क्षमता है। टी आर के पूंजीगत व्यय 218 करोड़ डॉलर करने के लिए प्रतिवर्ष 12 मिलियन टन और सह उत्पादन क्षमता 295 मेगावाट है, जो हिस्सेदारी बिक्री की आय के माध्यम से वित्त पोषित किया जाएगा संयुक्त मिलों की गन्ना पेराई क्षमता बढ़ाने के लिए लग रही है।

English Translation:

India’s largest sugar refiner Shree Renuka Sugars has successfully completed the acquisition of controlling stake of 50.34% in a Brazilian sugar and ethanol production company - Equipav S.A. Acucar e Alcool (Equipav AA). Following this acquisition, Equipav has become the subsidiary of the company. In February this year, the sugar maker had agreed to buy 50.79% stake in Equipav S.A. for Rs 1,530 crore but it managed to revise the deal last month to 50.34% stake for Rs 1,151 crore. Equipav S.A. is one of the largest sugar and ethanol companies in Brazil. The company consists of two very large and modern sugar/ ethanol mills with integrated co-generation facilities having combined cane crushing capacity of 10.5 million tonne per annum. Apart from this, the Brazilian entity also has a co-generation capacity of 203 megawatt (MW). t is looking to undertake capital expenditure of R$218 million to augment combined cane crushing capacity of the mills to 12 million tonne per annum and co-generation capacity to 295 MW, which will be funded through proceeds of the stake sale.

No comments:

Post a comment