15 December 2010

CRISIL Assigns Grade 4/5 To Sterlite Energy’s IPO : क्रिसिल ने स्टरलाइट एनर्जी के आईपीओ के लिए 4 / 5 ग्रेड निर्धारित किया : 15th December

हिन्दी अनुवाद:

स्टरलाइट ऊर्जा को प्रस्तावित आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) रेटिंग एजेंसी क्रिसिल से 4 / 5 का आईपीओ ग्रेड मिला है। स्टरलाइट एनर्जी को सौंपा ग्रेड क्रिसिल इक्विटीज मानना है कि भारत में मौजूदा बिजली की कमी निरंतर आर्थिक विकास के साथ मिलकर बिजली की मांग ईंधन होगा, विद्युत उत्पादन में कंपनियों के लिए पर्याप्त अवसर पैदा करने को दर्शाता है। झारसुगुडा कारण इसकी कम पूंजी लागत और निकटता से परियोजना की लागत प्रतियोगी लाभ में ग्रेड कारकों स्रोत ईंधन के लिए है। इससे पहले, यह एक प्रारंभिक सार्वजनिक करने के लिए 5100 करोड़ रुपये तक बढ़ाने की पेशकश के लिए सेबी के साथ एक ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस दाखिल किया था। आईपीओ आय भाग के लिए उपयोग किया जाएगा इन परियोजनाओं के वित्तपोषण पर। कोटक महिंद्रा कैपिटल, इनाम सिक्योरिटीज, जेपी मॉर्गन और मॉर्गन स्टेनली वैश्विक समन्वयक और किताब जारी करने के लीड मैनेजर हैं। कंपनी वाणिज्यिक बिजली उत्पादन में शामिल है और वर्तमान में विकासशील 4380 मेगावाट की एक संयुक्त क्षमता के साथ दो (उड़ीसा) और झारसुगुडा (पंजाब) तलवंडी में ताप विद्युत परियोजनाओं मे शामिल है। कंपनी ने हाल ही झारसुगुडा परियोजना की 600 मेगावाट की पहली इकाई (चार इकाइयों में से) कमीशन था, पूर्ण परियोजना के लिए 2011 अगस्त से परिचालन होने की उम्मीद है।

English Translation:

Sterlite Energy’s proposed Initial Public Offer (IPO) has got an IPO Grade of 4/5 from rating agency CRISIL. The grade assigned to Sterlite Energy reflects CRISIL Equities view that the current power deficit in India coupled with sustained economic growth will fuel power demand, creating ample opportunities for companies in power generation. The grade factors in the cost competitive advantage of the Jharsuguda project due to its low-capital cost and proximity to fuel source. Earlier, it had filed a draft red herring prospectus with SEBI for an initial public offering to raise up to Rs 5,100 crore. The IPO proceeds will be used to part finance these projects. Kotak Mahindra Capital, Enam Securities, JP Morgan and Morgan Stanley are the global coordinators and book running lead managers to the issue. The company is involved in commercial power generation and is currently developing two thermal power projects in Jharsuguda (Orissa) and Talwandi (Punjab), with a combined capacity of 4,380 mw. The company had recently commissioned the first unit (of the four units) of 600 MW of the Jharsuguda project; the full project is expected to be operational by August 2011.

No comments:

Post a comment