3 October 2011

Tata Power Likely To Sell Non-Core Assets For Funding : टाटा पावर ने अनुदान के लिए गैर - कोर एसेट्स को बेचने की संभावना है: 03-10-11

हिन्दी अनुवाद :

टाटा पावर, ने अग्रणी बिजली जनरेटर के मुख्य निवेश में एक अल्पसंख्यक हिस्सेदारी के रूप में अच्छी तरह से गैर कोर निवेश की बिक्री बिकवाली के द्वारा धन जुटाने का उद्देश्य दिया है। कंपनी को इन फंडों के साथ अपने भविष्य की परियोजनाओं के वित्त की योजना है। धन जुटाने के लिए कंपनी ने भी विदेशों में बांड बाजार सहित विभिन्न दूसरे रास्ते पर देखेंगे, बाह्य वाणिज्यिक उधारी (ईसीबी) और रुपए में बाजार / ऋण बांड।

कंपनी ने कम लागत में धन जुटाने का आँखें, जबकि लक्ष्य के स्तर पर लाभ उठाने के अनुपात को बनाए रखा। वह भविष्य की परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए इक्विटी का स्रोत गैर कोर निवेश, कोर और माता पिता के स्तर पर इक्विटी जलसेक निवेश में एक अल्पसंख्यक हिस्सेदारी बेचने की बिक्री शामिल होगी।

English Translation :

Tata Power, the leading power generator aims to raise funds by offloading a minority stake in core investments as well as the sale of non-core investments. The company plans to finance its future projects with these funds. For raising funds the company will also look at various other avenues, including the overseas bond market, external commercial borrowings (ECB) and the rupee loan/bond market.

The company eyes to raise low cost funds, while maintaining leverage ratios at target levels. The source of equity for funding future projects will include the sale of non-core investments, a minority stake sale in core investments and equity infusion at the parent level.

No comments:

Post a comment