9 July 2009

एलआईसी मुचुअल फंड ने ऋण परियोजना के लिए 25,000 करोड़ रुपए प्रदान किए- जुलाई 09, 2009

हिन्दी अनुवाद:
भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) में 2009-10 के दौरान मुचुअल फंड (एमऍफ़) और परियोजना ऋण में निवेश के लिए 25.000 करोड़ रुपये को आवंटित किया गया। मुचुअल फंड में बीमाकर्ता की नीवेश योजना को उपस्थित किया गया, जबकि यह 3,000 से 5,000 करोड़ रुपए की ऋण परियोजना के लिए गुप्त रूप से 20000 करोड़ रुपए निवेश करने की योजना बना रही है। इस निवेश में वित्तीय वर्ष 10 के लिए दोनों सिरों के तहत 20 प्रतिशत रुपए के पिछले वर्ष के स्तर पर 20600 करोड़ रुपए से अधिक की योजना बना रही है। बीमाकर्ता की पेशकश में नीवेश के अधीन मुचुअल फंड में तरलता और मुद्रा बाजार फंड और निश्चित अव्धिपूर्ण योजना (ऍफ़एमपी), में 10 से 12 प्रतिशत प्रतिलाभ को उपस्थित किया गया।

एलआईसी के नीवेश परियोजना ऋण के योग्य कम से कम 50 प्रतिशत में पिछले साल के 2,100 करोड़ रूपये से ज्यादा नीवेश होने की संभावना है। परियोजना ऋण में एक प्रतिलाभ के लिए 13 प्रतिशत से 14 प्रतिशत की तुलना में 12 प्रतिशत गैर परिवर्तनीय ऋण पत्र को उपस्थित किया गया।

English Translation:

Life Insurance Corporation of India (LIC) has allocated Rs 25,000 crore for investment in mutual funds (MFs) and project loans during 2009-10. The insurer plans to invest around Rs 20,000 crore in MFs, whereas Rs 3,000-5,000 crore will be set aside for project loans. The investment plans under both the heads for FY’10 is 20 per cent high from the previous year’s level of Rs 20,600 crore. Insurers prefer the investment under MFs in liquid or money market funds and fixed maturity plans (FMPs), which offer returns of 10-12 per cent.

LIC’s investment in project loans is likely to be at least 50 per cent than last year’s investment that stood at Rs 2,100 crore. Project loans offer a return of 13-14 per cent as against 12 per cent on non-convertible debentures.

No comments:

Post a comment