30 July 2009

हल्दी के भावी सौदे निम्न स्तर पर है- जुलाई 30, 2009

हिन्दी अनुवाद:
नई दिल्ली: मंगलवार को, हल्दी में लाभ के लिए बुकिंग द्बारा व्यापारियों पर उच्च लेवल और व्यापार में नकारात्मक क्षेत्र पर राष्ट्रीय कोमोडिटी और कृत्रिम एक्सचेंज, के पिछले सात स्तरों में वृद्धि हुई। हालांकि, अच्छे निर्यात मांग में भंडारगृहों और कम स्टॉक में कुछ हद तक नुकसान को कम किया गया।

जबकि सितंबर महीने के अनुबंध में प्रसव 0.07 प्रतिशत से नीचे चला गया और 6023 रुपये प्रति क्विंटल पर चला गया हल्दी के निर्यात में अक्टूबर महीने के अनुबंध में प्रसव के लिए 6024 रुपये प्रति क्विंटल में 2140 पर खुला और बहुत रुचि के साथ, 19630 पर खुले और रुचि रखने के लिए 0.17 प्रतिशत पर गिर गए। बाजार विश्लेषकों में हल्दी की कीमतों में आज की गिरावट अधिकतर लाभ के उद्भव सप्ताह से अधिक देखने के बाद उच्च स्तर पर प्रचलित बुकिंग करने के लिए लंबी लकीर पर प्रमुख उत्पादक क्षेत्रों में अच्छी निर्यात और बारिश की कमी के साथ वृद्धि हुई और इसमे हुए लाभ के लिए हल्दी के निर्यात को उचित ठहराया गया था।

English Translation:

New Delhi: On Tuesday, turmeric succumbed to profit-booking by traders at higher levels and traded in negative zone on the National Commodity and Derivatives Exchange, which has been rising in the past seven sessions. However, lower stocks at warehouses and good export demand capped losses to some extent.

Turmeric for delivery in October month contract fell 0.17 per cent at Rs 6,024 per quintal with an open interest of 2,140 lots, while delivery in September month contract moved down by 0.07 per cent at Rs 6,023 per quintal, having an open interest of 19,630 lots. Market analysts said today's fall in turmeric prices was mostly attributed to the emergence of profit-booking at prevailing higher levels after witnessing over week-long winning streak but turmeric should bounce with good exports and deficient rains at key producing regions.

No comments:

Post a comment